Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana | मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना राजस्थान

Mukhyamantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana | मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना राजस्थान

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना राजस्थान
राजस्थान सरकार द्वारा 01 मई, 2021 को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है। यह योजना राजस्थान सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित है। इस योजना के तहत सरकारी चिकित्सालय व पंजीकृत निजी चिकित्सालयों के माध्यम से 10 लाख रूपये तक का कैशलेस उपचार दिया जा रहा है।
योजना का उद्देश्य
इस योजना का उद्देश्य प्रदेश के सभी परिवारों को नि:शुल्क और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच प्रदान करने में मदद करेगी।
योजना की विशेषताएं
  • इस योजना के तहत प्रदेश के सभी परिवारों को 10 लाख रूपये तक का कैशलेस उपचार दिया जाएगा।
  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र लाभार्थियों के साथ-साथ मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना संविदाकर्मियों और लघु, सीमांत कृषकों को नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल पाएगा।
  • प्रदेश के सभी अन्य परिवारों को बीमा प्रीमियम की 50% राशि यानी 850 रूपये पर नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।
  • इस योजना के तहत सभी प्रकार के रोगों का उपचार किया जाएगा, जिनमें गंभीर बीमारियां जैसे कैंसर, हृदय रोग, और स्ट्रोक भी शामिल हैं।
  • इस योजना के तहत उपचार के लिए मरीज को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है। वह इलाज के लिए किसी भी सरकारी या पंजीकृत निजी अस्पताल में जा सकता है।
योजना के लाभ
इस योजना के तहत मिलने वाले लाभों में शामिल हैं:
  • नि:शुल्क कैशलेस उपचार
  • सभी प्रकार के रोगों का उपचार
  • अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की प्रमुख जानकारी :-

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में दी गई मुख्य जानकारी के आधार पर, यह योजना राजस्थान राज्य के प्रत्येक परिवार के सदस्यों के लिए स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान करने का उद्देश्य रखती है। यहाँ इस योजना के मुख्य प्रावधानों का संक्षेप दिया गया है:
  1. कवरेज राशि: प्रत्येक परिवार के लिए, यह योजना 25 लाख रुपये की केशलेस (cashless) स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान करेगी। यह कवरेज मेडिकल जरूरतों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान कर सकती है।
  2. पंजीकरण: योजना में शामिल होने के लिए, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के लाभार्थियों को पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं है। बीमा प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा वाहन किया जाएगा, इससे योजना का लाभ सरलता से प्राप्त किया जा सकेगा।
  3. रजिस्ट्रेशन: लघु व सीमांत कृषक, संविदा कर्मी और अन्य लाभार्थी खुद अपने नाम की रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं या फिर वे इसके लिए ई-मित्र सेवा का भी सहारा ले सकते हैं।
  4. प्रीमियम: अन्य परिवारों को वार्षिक रूप में योजना के लिए रुपये 850 का प्रीमियम भुगतान करना होगा।
  5. आवेदन: योजना के लिए आवेदन करने के लिए, जन आधार नंबर या जन आधार पंजीयन रसीद होना आवश्यक है। यदि आपके पास जन आधार कार्ड नहीं है, तो आपको सर्वप्रथम जन आधार कार्ड के लिए पंजीयन करना होगा।
  6. लाभ की शुरुआत: योजना का लाभ 1 मई 2021 से शुरू होगा।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का मुख्य उद्देश्य :-

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का मुख्य उद्देश्य राजस्थान राज्य के पात्र परिवारों के स्वास्थ्य के प्रति सशक्त और आर्थिक रूप से सुरक्षित होने का साधन करना है। इस योजना के मुख्य उद्देश्यों में निम्नलिखित होते हैं:
  1. पात्र परिवारों के स्वास्थ्य पर होने वाले व्यय को कम करना: योजना के अंतर्गत, पात्र परिवारों के सदस्यों के इलाज के व्यय को कम करने का प्रमुख उद्देश्य है। इसका मतलब है कि पात्र परिवार अपने स्वास्थ्य सेवा पर खर्च कम करेंगे और उन्हें स्वास्थ्य देखभाल की वित्तीय बोझ को कम करने का समर्थन मिलेगा।
  2. निजी चिकित्सालयों के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराना: योजना पात्र परिवारों को निजी चिकित्सालयों के माध्यम से उच्च गुणवत्ता वाली चिकित्सा सुविधाएं प्रदान कराने का उद्देश्य रखती है। इससे योजनाकर्ताओं को विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाओं का लाभ मिल सकेगा।
  3. बीमारियों का निःशुल्क ईलाज: योजना में वर्णित पैकेज से संबंधित बीमारियों के लिए पात्र परिवारों को निःशुल्क ईलाज उपलब्ध कराना योजना का एक और महत्वपूर्ण हिस्सा है। इससे योजनाकर्ताओं को आरामदायक और सशक्त इलाज की सुविधा मिलेगी।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज :-

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार से होना चाहिए।
  • मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड – Aadhar Card
  • बैंक खाता विवरण (Bank Account Details)
  • निवास प्रमाण पत्र (Residence Proof – Domicile)
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • आय प्रमाण पत्र (Income Proof Certificate)
  • राशन कार्ड
योजना का नाम
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, राजस्थान
उद्देश्य
राज्य के हर वर्ग के लिए स्वास्थ्य सुविधा पहुँचाना
वर्ष
2023
लाभार्थी
राजस्थान का निवासी होना चाहिए
योजना का लाभ
10 लाख रूपये का स्वास्थ्य बीमा
आवेदन प्रक्रिया
ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट
https://chiranjeevi.rajasthan.gov.in/

 

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना मे पंजीयन कैसे करे?

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में पंजीकरण करने के लिए आपको निम्नलिखित कदमों का पालन करना होगा:
  1. एसएसओ आईडी बनाएं: सबसे पहले, आपको अपनी एसएसओ (Single Sign-On) आईडी बनानी होगी। आप इस आईडी को sso.rajasthan.gov.in वेबसाइट पर जाकर बना सकते हैं।
  2. लॉग-इन करें: योजना में अपना पंजीकरण कराने के लिए, आपको अपनी एसएसओ आईडी के साथ लॉग-इन करना होगा।
  3. विकल्प चुनें: लॉग-इन करने के बाद, आपको “Free” और “Paid” दो विकल्पों के बीच चयन करना होगा। आपको अपनी पात्रता श्रेणी के आधार पर इन दो विकल्पों में से एक को चुनना होगा.
  4. डेटा प्रवेश करें: जैसे ही आप अपनी पात्रता श्रेणी का चयन करते हैं, आपको उस श्रेणी के अनुसार आवश्यक डेटा और जनआधार नंबर या जनआधार पंजीयन रसीद नंबर सॉफ्टवेयर में दर्ज करना होगा।
  5. पंजीकरण समर्थन और स्वीकृति: पूरे प्रक्रिया के बाद, आपका पंजीकरण समर्थन और स्वीकृति के लिए आपको निर्धारित प्राधिकृत अधिकारी द्वारा उपयुक्त अधिकारिक दस्तावेज जमा करना होगा।
परिवार के सभी सदस्यो के नाम आपको सॉफ्टवेयर में दिखाई देंगे जिनमें से किसी भी एक सदस्य को डिजिटल हस्ताक्षर (ई-सिग्नेचर) करना होगा जिसके लिये आधार कार्ड में दर्ज कराये हुए मोबाइल नम्बर पर ओटीपी आयेगा। इस ओटीपी को सॉफ्टवेयर में सबमिट कर ई-सिग्नेचर करना होगा। तत्पश्चात श्रेणी अनुसार आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा। इसके बाद आप policy डॉक्यूमेंट प्रिंट कर पायेंगे।
यदि आप Paid श्रेणी के परिवार आवेदन Submit करने पर सॉफ्टवेयर आपको ऑनलाइन पेमेंट माध्यम पर लेकर जायेगा जहां पर आपको निर्धारित प्रीमियम राशि 850 रूपये का भुगतान करना होगा। भुगतान के पश्चात policy डॉक्यूमेंट का प्रिंट लिया जा सकेगा।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की विशेषताएँ:-

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत 30 जनवरी 2021 को हुई थी, लेकिन यह योजना 1 मई 2021 से पूरे प्रदेश में लागू हो गई है। इस योजना के तहत निःशुल्क श्रेणी और निर्धारित प्रीमियम वाले परिवारों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्रदान किया जा रहा है। योजना के तहत शामिल परिवारों को विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं का उपयोग करने का अवसर मिलेगा, जैसे कि निशुल्क इलाज और अन्य चिकित्सा सुविधाएं।
लाभार्थी परिवार की सूची में निःशुल्क श्रेणी के अंतर्गत राज्य के खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के अन्तर्गत पात्र लाभार्थी परिवार, सामाजिक आर्थिक जनगणना (SECC) 2011 के पात्र परिवार, प्रदेश के सभी सरकारी विभागों, बोर्डों, निगमों, सरकारी कम्पनियों में कार्यरत संविदाकर्मिक, लघु और सीमांत किसान, और गत वर्ष कोविड-19 अनुग्रह राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित और असहाय परिवार शामिल हैं। इसके अलावा, अन्य परिवार जो सरकारी कर्मचारी या पेंशनर नहीं हैं, मेडिकल अटेंडेंस नियमों के अंतर्गत लाभ नहीं ले रहे हैं, वे निर्धारित प्रीमियम का भुगतान करके इस योजना में शामिल हो सकते हैं।
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बीमा कवर वर्ष 2023-24 के अनुसार प्रति परिवार प्रति वर्ष 10 लाख से बढ़ाकर 25 लाख तक कर दिया गया है। इससे पात्र परिवार अपने स्वास्थ्य सम्बन्धित व्ययों को आसानी से संभाल सकेंगे और महंगे चिकित्सा लागतों के साथ-साथ अपनी स्वास्थ्य सुरक्षा को भी बढ़ावा देंगे।
योजना के अंतर्गत विभिन्न बीमारियों के लिए 1798 प्रकार के पैकेजेज उपलब्ध हैं, और ये पैकेजेज स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक सुगम और समझने में आसान बनाने के लिए विभिन्न विधियों में विभाजित किए गए हैं। इन पैकेजेज के माध्यम से पारिवारिक स्वास्थ्य सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न चिकित्सा सेवाओं का लाभ उठाया जा सकेगा।
इस योजना के अंदर प्राप्त होने वाले पैकेजों की विवरणिका और योजना से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आपको स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की आधिकारिक वेबसाइट या स्वास्थ्य बीमा योजना के प्रमुख प्राधिकरण से संपर्क करना चाहिए। वे आपको योजना के विवरण, पैकेजों की सूची, योजना की अधिक जानकारी और पंजीकरण प्रक्रिया के बारे में और अधिक जानकारी प्रदान कर सकते हैं।
योजना के अन्तर्गत लाभार्थी को मिलने वाले बीमारियों के पैकेज में निम्नलिखित चिकित्सा सुविधाएँ शामिल है-
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लाभार्थियों को विभिन्न चिकित्सा सुविधाओं का मुफ्त लाभ मिलता है। इसमें पंजीकरण शुल्क, बिस्तर शुल्क, भर्ती शुल्क, नर्सिंग शुल्क, शल्य चिकित्सा, संवेदनाहरण विशेषज्ञ और सामान्य चिकित्सा की सलाह शुल्क, संवेदनाहरण, रक्त, ऑक्सीजन, ओ.टी, औषधियों का व्यय, एक्स-रे और जांच की लागत, और संचारी रोगों से बचाव के लिए आवश्यक उपकरणों की लागत शामिल है। योजना में भर्ती और डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परामर्श और जांच की लागत भी शामिल है।
यह योजना परिवार के आकार और आयु की कोई सीमा नहीं रखती है, और यह शिशुओं को भी शामिल करती है जो एक वर्ष तक के हैं, भले ही उनका परिवार कार्ड में नाम ना हो।
यह योजना राजस्थान सरकार द्वारा अपने प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य को सुरक्षित और अच्छी चिकित्सा सुविधाओं के साथ बनाने का प्रयास है और उन्हें वित्तीय तंगी से बचाने का मौका प्रदान करती है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के ऑफलाइन पंजीकरण के लिए ग्राम पंचायत या ब्लॉक पंचायत स्तर पर आयोजित शिविर में जाना होगा। यहां से आपको इस योजना का पंजीकरण फॉर्म लेना होगा। इसमें सभी जरूरी जानकारियां जैसे नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करानी होगी। तथा साथ ही सभी जरूरी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ जोड़ने के बाद फॉर्म शिविर में जमा कराएं। फॉर्म जमा करवाने के बाद आपको एक रिफरेंस नंबर मिलेगा जिससे आप अपने आवेदन की स्थिति ट्रैक कर पाएंगे।
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सम्बद्व चिकित्सालयो की सूची एवं इलाज के पैकेज देखने हेतु  नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे।
Click Here to View Hospitals List
 
Click Here to View Packages List

Helpline Number

अगर आप राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा कवर योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी लेना चाहते हैं या फिर किसी सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो इस हेल्पलाइन नंबर 1800-180-6127 पर कॉल कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सम्बंधित शब्दावली :-

1. बैड क्षमता :- बैड क्षमता से अभिप्राय अस्पताल में उपलब्ध उतने बैड से है, जिनका जिला एम्पेनलमेंट कमेटी द्वारा सत्यापन किया गया है तथा राजस्थान पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के प्रमाण पत्र में उल्लेख किया गया है।
2. डिजीज पैकेज/प्रोसिजर :- आयुष्मान भारत-महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना हेतु प्रकाशित आरएफपी एवं योजना की गाइडलाइन में प्रदर्शित पैकेजेज/प्रोसिजर्स।
3. डे-केयर ट्रीटमेंट :- डे-केयर ट्रीटमेंट से तात्पर्य उन चिकित्सीय उपचारो अथवा शल्य चिकित्सा से है, जो कि तकनीकी आधुनिकीकरण के कारण जनरल एनेस्थिसिया या लोकल एनेस्थिसिया के अन्तर्गत 24 घंटे से कम की अवधि में किये जा सकते है एवं जिन प्रोसिजर्स/पैकेजेज में मरीज का 24 घंटे अस्पताल में रूकना जरूरी नही है।
4. पात्र परिवार :- योजनार्न्तगत जन-आधार डेटाबेस से जुडे वें परिवार जो निःशुल्क श्रेणी के अर्न्तगत पात्रता रखते है या फिर निर्धारित प्रीमियम का भुगतान कर योजना में पंजीकृत हुए है।
5. परिवार :- इस योजना हेतु प्रयुक्त किये जाने वाले पहचान पत्र (जन-आधार कार्ड) में प्रदर्शित समस्त सदस्य परिवार में सम्मिलित है। इसके अतिरिक्त उस परिवार का एक साल की आयु तक का वह शिशु भी सम्मिलित है, जिसका नाम पहचान पत्र में नहीं है।
6. सरकार :- सरकार से तात्पर्य राजस्थान सरकार से है।
7. निजी अस्पताल :- निजी अस्पताल से अभिप्राय उन निजी चिकित्सा संस्थानो से है, जिन्हे राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी द्वारा योजना के क्रियान्वयन हेतु सम्बद्ध किया हुआ है।
8. सरकारी अस्पताल :- सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा उससे उच्च स्तर के समस्त सरकारी अस्पताल इसमें सम्मिलित है। इसमें भारत सरकार द्वारा राज्य में संचालित सम्बद्ध राजकीय अस्पताल भी सम्मिलित है।

9. कैशलेस उपचार :- कैशलेस उपचार से तात्पर्य है कि योजनान्तर्गत लाभार्थी परिवार के सदस्य के लिये योजना की आर.एफ.पी. तथा पैकेज गाइडलाइन से चयनित पैकेज के तहत उपचार के लिए उसे नेटवर्क अस्पतालो को किसी भी प्रकार की कोई राशि नहीं चुकानी होगी। नेटवर्क अस्पताल को ईलाज के खर्चे का पुनर्भरण बीमा कम्पनी द्वारा अनुबंध की शर्तो के अनुसार किया जायेगा।

10. इंटेन्सिव केयर युनिट (ICU) :- नेटवर्क अस्पताल का ऐसा पृथक वार्ड अथवा विंग जो कि समर्पित चिकित्सक के निरीक्षण में रहता है तथा यह उन सभी Life Support  उपकरणों तथा सुविधाओं से युक्त है, जिनकी आवश्यकता मरीज के गंभीर स्थिति में होने पर उसके जीवन की रक्षा के लिये होती है।
11. ओपीडी उपचार (OPD Treatment) :- इस प्रकार के उपचार में मरीज को चिकित्सीय परामर्श, जाँच, उपचार आदि दिया जाता है परन्तु उसे अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता नहीं होती है।
12. आईपीडी उपचार (IPD Treatment) :- इस प्रकार के उपचार में मरीज को अस्पताल के आईपीडी अनुभाग में र्श्ती रहकर उपचार लेना होता है।
13. नेटवर्क हॉस्पिटल :- बिन्दु संख्या 7 में वर्णित निजी अस्पताल तथा बिन्दु संख्या 8 में वर्णित सरकारी अस्पताल नेटवर्क हॉस्पिटल के नाम से जाने जायेंगे।
14. दिशा-निर्देश :- वें सभी निर्देश जो मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना/आयुष्मान भारत-महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी द्वारा समय समय पर जारी किये जा चुके है/जारी किये जाते है।
15. परिवार पहचान पत्र :- परिवार पहचान पत्र से अभिप्राय जन-आधार कार्ड से है।
16. बीमा कम्पनी :- राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी द्वारा योजना के क्रियान्वयन के लिए चयनित बीमा कम्पनी।
17. मिनिमम डॉक्यूमेंट प्रोटोकॉल :- मिनिमम डॉक्यूमेंट प्रोटोकॉल से अभिप्राय उन आवश्यक दस्तावेजो से है जो नेटवर्क अस्पतालों द्वारा बीमा कंपनी को क्लेम प्रोसेसिंग/प्री-ऑथ रिक्वेस्ट के समय प्रस्तुत किये जायेंगे।
18. राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी :- योजना के क्रियान्वयन हेतु सोसायटी एक्ट 1958 में रजिस्टर्ड संस्था।
19. बीमा कवर :- माननीय मुख्यमंत्री महोदय की बजट घोषणा वर्ष 2023-24 के अनुसार स्वास्थ्य बीमा कवर को प्रति परिवार प्रति वर्ष 10 लाख से बढाकर 25 लाख तक कर दिया गया है।
20. लामा (Left Against Medical Advice) :- ऐसी परिस्थिति जिसमें मरीज चिकित्सक द्वारा डिस्चार्ज करने से पहले अस्पताल से जाना चाहता है।
21. एब्सकॉन्ड (Abscond) :- ऐसी परिस्थिति जिसमें मरीज इलाज पूर्ण होने के पूर्व हीं अस्पताल के डॉक्टर अथवा अन्य स्टाफ को सूचना दिये बिना अस्पताल से चला जाता है।
FAQs :-
 
Q. मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना कब शुरू हुई?
Ans :-  1 मई 2021
 
Q. मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत किसने की है ?
Ans :- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत
 
Q. चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में कौन-कौन सी बीमारियां शामिल है?
Ans :- कोविड-19, ब्लैक फंगस, कैंसर, पैरालाइसिस, हार्ट सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, ऑर्गन ट्रांसप्लांट इत्यादि।
 
Q. चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में क्या क्या फ्री है?
Ans :- राजस्थान के सभी सरकारी अस्पतालों में OPD और IPD की सेवाएं पूरी तरह से निशुल्क हैं। इसके तहत सभी प्रकार की जांचे और महंगी दवाइयां भी फ्री में मिल जाती हैं।
 
Q. मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में प्रत्येक परिवार को कितने रुपए का बीमा दिया जाता है?
Ans :- 25 लाख तक का कैशलेस बीमा
 
Q. मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना द्वारा कैशलेस बीमा की कितनी राशि प्रस्तावित की गई है?
Ans :- 25 लाख
 

Leave a Comment