लोक सभा (Lok Sabha), राज्यों में लोकसभा सदस्यों की संख्या

लोक सभा (Lok Sabha), राज्यों में लोकसभा सदस्यों की संख्या

नमस्ते दोस्तों,
आज की इस पोस्ट में हम आपको भारत की संसद के निचले सदन, लोकसभा के बारे में जानकारी देने वाले हैं। लोकसभा का गठन सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार के आधार पर लोगों द्वारा प्रत्यक्ष चुनाव द्वारा चुने हुए प्रतिनिधियों से होता है।
लोकसभा के बारे में जानकारी
  • लोकसभा के सदस्यों की अधिकतम संख्या 552 तक हो सकती है। जिनमें 530 सदस्य राज्यों का तथा 20 सदस्य केन्द्र शासित प्रदेशों से हो सकते हैं।
  • वर्तमान में लोकसभा में 545 सदस्य हैं।
  • लोकसभा का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है, परन्तु इसे समय पूर्व भी भंग किया जा सकता है।
  • लोकसभा का अध्यक्ष लोकसभा का नेता होता है।
  • लोकसभा का कार्यकाल समाप्त होने के बाद, एक नई लोकसभा का चुनाव होता है।
राज्यों के अनुसार लोकसभा सीटों की संख्या
भारत के प्रत्येक राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश को उसकी जनसंख्या के आधार पर लोक सभा सीटें मिलती हैं। वर्तमान में यह 1991 की जनगणना के आधार पर है। अब लोक सभा के सदस्यों की संख्या वर्ष 2026 में निर्धारित की जायेगी।
लोकसभा के सदस्यों के अधिकार
  • लोकसभा के सदस्यों को कानून बनाने का अधिकार है।
  • लोकसभा के सदस्यों को सरकार की नीतियों पर सवाल पूछने का अधिकार है।
  • लोकसभा के सदस्यों को सरकार को गिराने का अधिकार है।
लोकसभा के सदस्यों के कर्तव्य
  • लोकसभा के सदस्यों का कर्तव्य है कि वे देश की सेवा करें।
  • लोकसभा के सदस्यों का कर्तव्य है कि वे अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों की समस्याओं को हल करें।
  • लोकसभा के सदस्यों का कर्तव्य है कि वे सरकार की नीतियों के बारे में लोगों को जागरूक करें।
लोकसभा के सदस्यों के चुनाव
लोकसभा के सदस्यों का चुनाव सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार के आधार पर होता है। मतदाता किसी भी उम्मीदवार के लिए वोट दे सकता है। उम्मीदवार को जीतने के लिए सबसे अधिक वोट प्राप्त करने होते हैं।
लोकसभा का महत्व
लोकसभा भारत की संसद का निचला सदन है। लोकसभा सरकार का सबसे शक्तिशाली सदन है। लोकसभा सरकार को कानून बनाने, बजट पास करने और सरकार को गिराने का अधिकार रखती है।
लोकसभा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य
  • लोकसभा का पहला सत्र 17 अप्रैल, 1952 को हुआ था।
  • लोकसभा के वर्तमान अध्यक्ष ओम बिरला हैं।
  • लोकसभा में सबसे अधिक सीटें उत्तर प्रदेश की हैं। उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा सीटें हैं।
  • लोकसभा में सबसे कम सीटें सिक्किम की हैं। सिक्किम में 1 लोकसभा सीट है।

 

क्रम संख्या
राज्य का नाम
लोकसभा सदस्य
1
उत्तर प्रदेश
80
2
महाराष्ट्र
48
3
पश्चिम बंगाल
42
4
बिहार
40
5
तमिलनाडु
39
6
मध्य प्रदेश
29
7
कर्नाटक
28
8
गुजरात
26
9
आंध्रप्रदेश
25
10
राजस्थान
25
11
ओड़िशा
21
12
केरल
20
13
तेलंगाना
17
14
असम
14
15
झारखंड
14
16
पंजाब
13
17
हरियाणा
10
18
छत्तीसगढ़
11
19
उत्तराखंड
5
20
हिमाचल प्रदेश
4
21
अरुणाचल प्रदेश
2
22
गोवा
2
23
मणिपुर
2
24
मेघालय
2
25
त्रिपुरा
2
26
मिज़ोरम
1
27
नागालैण्ड
1
28
सिक्किम
1

 

केन्द्र शासित प्रदेशों के अनुसार लोकसभा सीटों की संख्या –

क्रम संख्या
केंद्र शासित प्रदेश का नाम
लोकसभा सदस्य
1
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली
7
2
जम्मू कश्मीर
5
3
अंडमान और निकोबार द्वीप समूह
1
4
दादरा और नगर हवेली
1
5
दमन और दीव
1
6
चंडीगढ़
1
7
लक्षद्वीप
1
8
पुडुच्चेरी
1
9
लद्दाख
1

Leave a Comment