मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जलीय जीवों के प्रति उनकी पहल: गांगे डॉल्फिन को प्रदेश का जलीय जीव का दर्जा दिया गया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जलीय जीवों के प्रति उनकी पहल: गांगे डॉल्फिन को प्रदेश का जलीय जीव का दर्जा दिया गया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीलीभीत में गांगेय डॉल्फिन को उत्तर प्रदेश का जलीय जीव घोषित किया। उन्होंने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण कदम है जो प्रदेश के जैव विविधता संरक्षण को बढ़ावा देगा। गांगेय डॉल्फिन एक विलुप्तप्राय प्रजाति है, और इसकी संख्या में गिरावट आ रही है। उत्तर प्रदेश में इनकी संख्या लगभग 2000 है।
मुख्यमंत्री ने वन्यजीव संरक्षण के लिए भी कई घोषणाएं कीं। उन्होंने कहा कि वन्यजीवों के संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। टाइगर रिजर्व से जुड़े गांवों के लोगों को वन्यजीव गाइड के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने प्लास्टिक कचरे के कारण जल प्रदूषण को रोकने के लिए भी लोगों से अपील की।
मुख्यमंत्री ने पीलीभीत के चूका बीच की सुंदरता को भी निहारा। उन्होंने इस बीच पर सैलानियों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने जंगल सफारी का भी आनंद लिया।
मुख्यमंत्री की घोषणाओं का वन्यजीव संरक्षण के लिए सकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। गांगेय डॉल्फिन के संरक्षण के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम है। वन्यजीवों के संरक्षण के लिए जागरूकता अभियान और लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने से इनकी संख्या में वृद्धि होने की संभावना है।
मुख्यमंत्री की घोषणाओं का विवरण निम्नलिखित है:
  • गांगेय डॉल्फिन को उत्तर प्रदेश का जलीय जीव घोषित किया गया।
  • वन्यजीवों के संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा।
  • टाइगर रिजर्व से जुड़े गांवों के लोगों को वन्यजीव गाइड के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा।
  • प्लास्टिक कचरे के कारण जल प्रदूषण को रोकने के लिए लोगों से अपील की गई।

Leave a Comment