भारत सरकार ने विदेश मंत्री एस जयशंकर की सुरक्षा बढ़ाकर जेड श्रेणी कर दी

भारत सरकार ने विदेश मंत्री एस जयशंकर की सुरक्षा बढ़ाकर जेड श्रेणी कर दी

भारत सरकार ने विदेश मंत्री एस जयशंकर की सुरक्षा बढ़ाकर जेड श्रेणी कर दी है। अब तक जयशंकर की सुरक्षा वाई श्रेणी के तहत दिल्ली पुलिस की एक सशस्त्र टीम कर रही थी। नई सुरक्षा के तहत उनके साथ अब 14-15 सशस्त्र कमांडो रहेंगे।
इस फैसले के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं है, लेकिन कुछ मीडिया रिपोर्टों का कहना है कि यह इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) की एक रिपोर्ट के आधार पर लिया गया है। रिपोर्ट में जयशंकर को गंभीर खतरे का संकेत दिया गया था।
जेड श्रेणी की सुरक्षा भारत में मिलने वाली सबसे उच्चतम स्तर की सुरक्षा है। इसमें 14-15 सशस्त्र कमांडो शामिल होते हैं, जो 24 घंटे जयशंकर की सुरक्षा करते हैं। इन कमांडो के पास आधुनिक हथियार और उपकरण होते हैं।
जयशंकर भारत के वरिष्ठतम राजनेताओं में से एक हैं। वह 2019 से विदेश मंत्री के पद पर हैं। उन्हें भारत की विदेश नीति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है।

जयशंकर की सुरक्षा बढ़ाने के फैसले का भारत और दुनिया भर में प्रतिक्रियाएं आई हैं। कुछ लोगों ने कहा कि यह फैसला जयशंकर को मिलने वाले खतरों को लेकर सरकार की चिंता का संकेत है। अन्य लोगों ने कहा कि यह फैसला भारत की सुरक्षा व्यवस्था में सुधार का संकेत है।
यहां भारत में विभिन्न सुरक्षा श्रेणियों के बारे में जानकारी दी गई है:
  • X श्रेणी: यह सबसे निम्नतम सुरक्षा श्रेणी है। इसमें एक या दो सुरक्षाकर्मियों की तैनाती होती है।
  • Y श्रेणी: इसमें तीन से पांच सुरक्षाकर्मियों की तैनाती होती है।
  • Y+ श्रेणी: इसमें पांच से आठ सुरक्षाकर्मियों की तैनाती होती है।
  • Z श्रेणी: इसमें 10 से 12 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती होती है।
  • Z+ श्रेणी: इसमें 14 से 16 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती होती है।
  • NSG श्रेणी: यह सबसे उच्चतम सुरक्षा श्रेणी है। इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) के कमांडो तैनात होते हैं।

Leave a Comment