भारत में बेरोजगारी दर 2023: Unemployment Rate in India 2023

भारत में बेरोजगारी दर 2023

भारत में बेरोजगारी दर 2023 में 3.2 प्रतिशत रही, जो छह साल के निचले स्तर पर है। यह जानकारी राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण कार्यालय (NSSO) की ओर से जारी आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण वार्षिक रिपोर्ट 2022-2023 से मिली है।

रिपोर्ट के अनुसार, जुलाई 2022 से जून 2023 के बीच राष्ट्रीय स्तर पर 15 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए सामान्य स्थिति में बेरोजगारी दर (यूआर) 2021-22 में 4.1 प्रतिशत से घटकर 2022-23 में 3.2 प्रतिशत हो गई।

बेरोजगारी दर की गणना श्रम बल में बेरोजगार लोगों के प्रतिशत के रूप में की जाती है। श्रम बल में वे लोग शामिल हैं जो काम कर रहे हैं, काम की तलाश कर रहे हैं या काम करने के लिए तैयार हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी दर 2.4 प्रतिशत रही, जो शहरी क्षेत्रों के 5.4 प्रतिशत की तुलना में काफी कम है। पुरुषों में बेरोजगारी दर 3.3 प्रतिशत रही, जो महिलाओं की 2.9 प्रतिशत की तुलना में थोड़ी अधिक है।

बेरोजगारी दर में गिरावट के लिए कई कारण हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • आर्थिक विकास में वृद्धि: भारत की अर्थव्यवस्था 2022-23 में 8.7 प्रतिशत की दर से बढ़ी, जो पिछले 8 सालों में सबसे तेज वृद्धि दर है। इससे रोजगार के अवसरों में वृद्धि हुई है।
  • कोविड-19 महामारी से उबरना: भारत ने कोविड-19 महामारी से उबरना शुरू कर दिया है, जिससे आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू हुई हैं। इससे भी रोजगार के अवसरों में वृद्धि हुई है।
  • सरकारी नीतियों का समर्थन: सरकार ने विभिन्न नीतियों और कार्यक्रमों के माध्यम से बेरोजगारी को कम करने के लिए प्रयास किए हैं। इनमें स्टार्टअप को बढ़ावा देना, कौशल विकास को बढ़ावा देना और रोजगार सृजन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना शामिल है।

हालांकि, बेरोजगारी दर अभी भी उच्च है, खासकर युवाओं और महिलाओं के बीच। सरकार को बेरोजगारी को कम करने के लिए और प्रयास करने की जरूरत है।

Leave a Comment