भारत की महारत्न व नवरत्न कम्पनियां

भारत की महारत्न व नवरत्न कम्पनियां

 

भारत की महारत्न और नवरत्न कंपनियां: देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका
भारत की महारत्न और नवरत्न कंपनियां देश की अर्थव्यवस्था के प्रमुख स्तंभ हैं। ये कंपनियां विभिन्न क्षेत्रों में काम करती हैं, जिनमें ऊर्जा, खनन, वित्त, इंजीनियरिंग, संचार, और बुनियादी ढांचा शामिल हैं। महारत्न कंपनियां, जो नवरत्न कंपनियों से भी अधिक स्वायत्तता रखती हैं, भारत के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।
महारत्न और नवरत्न कंपनियों के पास देश भर में विशाल परिसंपत्तियां और संसाधन हैं। ये कंपनियां देश के लिए रोजगार सृजन और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान देती हैं। महारत्न कंपनियों का कुल राजस्व 2022-23 में 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक होने का अनुमान है। इन कंपनियों के निवेश और रोजगार सृजन के लिए भारत सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की प्रोत्साहन दी जाती हैं।
महारत्न और नवरत्न कंपनियों को सरकार की पूर्वानुमति के बिना 5,000 करोड़ रुपये तक के निवेश करने की अनुमति है। इससे इन कंपनियों को अपने व्यवसाय का विस्तार करने और नए अवसरों का पता लगाने में मदद मिलती है। महारत्न कंपनियों को विदेशों में अनुषंगी इकाई स्थापित करने और विदेशी कंपनियों का अधिग्रहण करने की भी अनुमति है। इससे इन कंपनियों को वैश्विक बाजारों में प्रतिस्पर्धा करने में मदद मिलती है।
महारत्न और नवरत्न कंपनियों के कुछ प्रमुख उदाहरणों में शामिल हैं:
भारत की महारत्न कम्पनियां ( Maharatna Companies List )
क्रमांक
कम्पनी का नाम
संक्षिप्त नाम
1
तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड
ONGC
2
भारतीय तेल निगम लिमिटेड
IOCL
3
राष्ट्रीय ताप विद्दुत निगम लिमिटेड
NTPC
4
भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड
SAIL
5
कोल इंडिया लिमिटेड
CIL
6
भारत हैवी इलेक्ट्रीकल्स लिमिटेड
BHEL
7
गैस ऑथोरिटी ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड
GAIL
8
भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड
BPCL
9
पॉवर फाइनेंस कॉरपोरेशन
PFC
10
हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड
HPCL
11
पॉवरग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड
PGCIL
12
स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड
SAIL

भारत की नवरत्न कम्पनियां ( Navratna Companies List )

क्रमांक
कम्पनी का नाम
संक्षिप्त नाम
1
भारतीय इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड
BEL
2
हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड
HPCL
3
महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड
MTNL
4
हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड
HAL
5
पॉवर फाइनेंस कॉर्पोरेशन ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड
PFC
6
नेशनल मिनरल डेवलेपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड
NMDC
7
रूरल इलेक्ट्रीफिकेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड
REC
8
पॉवर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड
PGCIL
9
नेशनल एल्यूमिनियम कम्पनी लिमिटेड
NALCO
10
शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड
SCI
11
ऑयल इण्डिया लिमिटेड
OIL
12
राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड
RINL
13
नेवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन लिमिटेड
NLC
14
इंजीनियर्स इण्डिया लिमिटेड
EIL
15
नेशनल बिल्डिंग्स कंस्ट्रक्शन्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड
NBCCL
16
कंटेनर कॉर्पोरेशन ऑफ़ इण्डिया लिमिटेड
CCIL

 

महारत्न और नवरत्न कंपनियां भारत के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। इन कंपनियों को सरकार की समर्थन और प्रोत्साहन से देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद मिल सकती है।
यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं कि सरकार महारत्न और नवरत्न कंपनियों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए क्या कर सकती है:
  • सरकार को इन कंपनियों को अधिक स्वायत्तता प्रदान करनी चाहिए, ताकि वे अपनी रणनीति और निर्णय लेने में अधिक लचीलापन प्राप्त कर सकें।
  • सरकार को इन कंपनियों के लिए वित्तीय सहायता और प्रोत्साहन को बढ़ाना चाहिए, ताकि वे नए अवसरों का पता लगाने और अपनी क्षमता को बढ़ा सकें।
  • सरकार को इन कंपनियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना चाहिए, ताकि वे वैश्विक बाजारों में अपनी स्थिति मजबूत कर सकें।

Leave a Comment