भरतनाट्यम की महान नृत्यांगना डॉ. सरोजा वैद्यनाथन का निधन

भरतनाट्यम की महान नृत्यांगना डॉ. सरोजा वैद्यनाथन का निधन

 

भरतनाट्यम की महान नृत्यांगना डॉ. सरोजा वैद्यनाथन का गुरुवार सुबह कैंसर के चलते निधन हो गया। उन्होंने दिल्ली स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस ली। डॉ. सरोजा ने हाल ही में 19 सितंबर को अपना 86 वां जन्मदिन मनाया था।
डॉ. सरोजा को देश-विदेश में भरतनाट्यम को ख्याति दिलाने का श्रेय दिया जाता है। उन्होंने भरतनाट्यम को एक लोकप्रिय नृत्य रूप बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने कई देशों में भरतनाट्यम का प्रशिक्षण दिया और नृत्य के इस रूप को दुनिया भर में फैलाने में मदद की।
डॉ. सरोजा को 2002 में पद्म श्री और 2012 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। उन्होंने चार किताबें भी लिखीं हैं।
विस्तृत विवरण:
डॉ. सरोजा का जन्म 1937 में कर्नाटक के बेल्लारी में हुआ था। उन्होंने भरतनाट्यम में अपना प्रारंभिक प्रशिक्षण चेन्नई के सरस्वती गण निलयम में प्राप्त किया। इसके बाद तंजावुर के गुरु कट्टुमनार मुथुकुमारन पिल्लई के यहां अध्ययन करने गईं।
डॉ. सरोजा ने 1972 में दिल्ली में गणेश नाट्यालय खोला। यह भारत का पहला भरतनाट्यम स्कूल था जो एक महिला द्वारा स्थापित किया गया था। गणेश नाट्यालय ने भरतनाट्यम को भारत में लोकप्रिय बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
डॉ. सरोजा ने दुनिया भर में भरतनाट्यम का प्रदर्शन किया। उन्होंने अमेरिका, यूरोप, एशिया और अफ्रीका के कई देशों में यात्रा की और नृत्य का प्रदर्शन किया।
डॉ. सरोजा एक उत्कृष्ट नृत्यांगना के साथ-साथ एक कुशल शिक्षिका भी थीं। उन्होंने कई शिष्यों को प्रशिक्षित किया, जो अब भारत और दुनिया भर में भरतनाट्यम का प्रशिक्षण दे रहे हैं।
डॉ. सरोजा के निधन से भारतीय कला जगत को एक बड़ी क्षति हुई है। वह एक महान नृत्यांगना थीं, जिन्होंने भरतनाट्यम को एक लोकप्रिय नृत्य रूप बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
शोक व्यक्त:
डॉ. सरोजा के निधन पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी और कई अन्य लोगों ने शोक व्यक्त किया है।
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, “भरतनाट्यम गुरु, पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित और एक शानदार नृत्यांगना डॉ. सरोजा वैद्यनाथन के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। उन्होंने भारतीय कला को समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके निधन से भारतीय कला जगत को एक बड़ी क्षति हुई है।”
संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा, “भरतनाट्यम गुरु, पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित और एक शानदार नृत्यांगना डॉ. सरोजा वैद्यनाथन के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। उन्होंने भारतीय कला को समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके निधन से भारतीय कला जगत को एक बड़ी क्षति हुई है।”

Leave a Comment