बिहार में बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक शिक्षक के पद पर नियुक्ति नहीं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला

बिहार में बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक शिक्षक के पद पर नियुक्ति नहीं, सुप्रीम कोर्ट का फैसला

बिहार में बीएड डिग्रीधारियों को बड़ा झटका लगा है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक शिक्षकों के पद पर नियुक्ति देने वाली याचिका खारिज कर दी है। यानी अब बीएड डिग्रीधारी प्राथमिक शिक्षक नहीं बन पाएंगे। याचिका पर सुनवाई के दौरान जस्टिस अनिरुद्ध बोस ने कहा कि 11 अगस्त 2023 के बाद से प्राथमिक स्कूलों में बीएड पास अभ्यर्थी शिक्षक नहीं बन पाएंगे।
सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला 11 अगस्त 2023 को राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (NCTE) द्वारा जारी अधिसूचना को रद्द करते हुए दिया। इस अधिसूचना के अनुसार, बीएड डिग्रीधारी प्राथमिक शिक्षकों के पद पर नियुक्ति के लिए पात्र थे। हालांकि, कई याचिकाओं के बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह अधिसूचना रद्द कर दी।
इस फैसले से बिहार में बीएड डिग्रीधारियों के बीच निराशा का माहौल है। कई बीएड डिग्रीधारियों ने प्राथमिक शिक्षक बनने के लिए कड़ी मेहनत की थी। अब उनका सपना टूट गया है।
बिहार सरकार ने इस फैसले को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक नई याचिका दायर की है। हालांकि, अभी तक इस याचिका पर सुनवाई नहीं हुई है।
इस फैसले से बिहार में प्राथमिक शिक्षक भर्ती में भी बदलाव आएगा। अब प्राथमिक शिक्षकों के पद पर केवल बीटीसी पास अभ्यर्थियों को ही नियुक्त किया जाएगा।
यह फैसला बिहार के शिक्षा क्षेत्र के लिए भी एक बड़ा झटका है। बीएड डिग्रीधारियों को प्राथमिक शिक्षकों के रूप में नियुक्ति देने से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार की उम्मीद थी। हालांकि, अब यह उम्मीद टूट गई है।

Leave a Comment