फिजिक्सवाला Ankit Gupta: 200 करोड़ की स्कॉलरशिप देना हमारा लक्ष्य

फिजिक्सवाला Ankit Gupta: 200 करोड़ की स्कॉलरशिप देना हमारा लक्ष्य

फिजिक्सवाला एक विशेष एडटेक कंपनी है, जिसने खुद को एक यूनिकॉर्न बना लिया है, और यह कंपनी दर्शकों के लिए एक हाइब्रिड शिक्षा मॉडल के माध्यम से शिक्षा प्रदान कर रही है। इस कंपनी ने एडटेक क्षेत्र में 2020 में कोविड-19 महामारी के बावजूद अपने उद्देश्य को पूरा किया और आज यह एक प्रमुख खिलाडी बन चुका है।
कंपनी का प्रमुख उद्देश्य उच्च गुणवत्ता वाली और किफायती शिक्षा प्रदान करना है, विशेष रूप से विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिए। कंपनी द्वारा प्रदान की जाने वाली अध्ययन सामग्री उच्च गुणवत्ता की होती है, और यह उच्च गुणवत्ता वाले शिक्षा साधने के लिए किफायती होती है। कंपनी विभिन्न शिक्षा वर्गों, जैसे कि NEET और IIT-JEE, के लिए अपने शिक्षा सामग्री को मार्केट में प्रदान करती है.
फिजिक्सवाला ने एक हाइब्रिड शिक्षा मॉडल विकसित किया है, जिसमें ऑनलाइन शिक्षा और ऑफलाइन पाठशाला को मिलाया गया है। यह मॉडल बच्चों को अच्छी और गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान करने की अनुमति देता है और उनके लिए अध्ययन सामग्री की उपलब्धता की सुविधा देता है।
इसके साथ ही, फिजिक्सवाला ने “एनसेट” (नेशनल स्कॉलरशिप एडमिशन टेस्ट) जैसे योजनाएं शुरू की हैं, जिनका उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए योग्यता परीक्षण देना है। इसके माध्यम से, उन्हें फीस में कमी प्राप्त होती है और उन्हें शिक्षा के लिए आरामदायक और सहायक माहौल मिलता है।
कंपनी का मुख्य उद्देश्य उच्च गुणवत्ता की और किफायती शिक्षा प्रदान करना है, विशेष रूप से उन बच्चों के लिए जो आर्थिक रूप से कमजोर हो सकते हैं। इसके माध्यम से, फिजिक्सवाला कोचिंग संस्थानों को पारदर्शिता, उच्च गुणवत्ता और किफायती शिक्षा के बारे में नए मानकों को स्थापित करने का माध्यम प्रदान कर रहा है। उन्होंने बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य की भी देखभाल करने के लिए विभिन्न अपने केंद्रों और स्कूलों में साइकोलॉजिस्टों की सेवाएं उपलब्ध कराई हैं। वे एक डेडिकेटेड प्रोग्राम भी चला रहे हैं जिसमें बच्चे अपनी परेशानियों को साझा कर सकते हैं और विद्यापीठ रेसिडेंशियल प्रोग्राम की सुविधा भी प्रदान की है, जिससे उन्हें शिक्षा और अध्ययन के लिए सुविधाजनक माहौल मिलता है।
फिजिक्सवाला के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में नए और सुधारित मानकों को स्थापित करने का प्रयास किया गया है और विशेष रूप से आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए शिक्षा की उपलब्धता में सुधार किया गया है। उन्होंने बच्चों के शैक्षिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर योजनाएं शुरू की हैं जो उनकी सफलता और कल्याण के लिए महत्वपूर्ण हैं।

 

Leave a Comment