पुरुषों के लिए दुनिया का पहला गर्भनिरोधक टीका भारत में सफल परीक्षण

पुरुषों के लिए दुनिया का पहला गर्भनिरोधक टीका भारत में सफल परीक्षण

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा विकसित पुरुषों के लिए दुनिया का पहला गर्भनिरोधक टीका भारत में सफल परीक्षण से गुजरा है। आईसीएमआर ने कहा है कि टीका पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावशाली पाया गया है।
टीका, जिसका नाम “रिवर्स इन्हिबीशन ऑफ स्पर्म अंडर गाइडेंस” (रिसुग) है, शुक्राणु नलियों को अवरुद्ध करके काम करता है। शुक्राणु नलियां शुक्राणुओं को अंडाशय तक ले जाती हैं। जब रिसुग को शुक्राणु नलियों में इंजेक्शन दिया जाता है, तो यह एक पॉलीमर को छोड़ता है जो नली की अंदरूनी दीवार से चिपक जाता है। पॉलीमर जब शुक्राणुओं से संपर्क में आता है तो यह उनकी पूंछ को नष्ट कर देता है, जिससे शुक्राणु अंडों को गर्भाधान करने की अपनी क्षमता खो देते हैं।
रिसुग का परीक्षण तीन चरणों में किया गया था। पहले चरण में, टीके की सुरक्षा और सहनशीलता का परीक्षण 60 पुरुषों पर किया गया। दूसरे चरण में, टीके की प्रभावशीलता का परीक्षण 300 पुरुषों पर किया गया। तीसरे चरण में, टीके की प्रभावशीलता और सुरक्षा का परीक्षण 1000 पुरुषों पर किया गया।
तीसरे चरण के अध्ययन में, टीके ने 99% तक गर्भधारण को रोक दिया। टीके की कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं देखे गए।
आईसीएमआर के अनुसार, रिसुग को भारत में 2025 तक उपलब्ध कराया जा सकता है। टीके की उपलब्धता से पुरुषों को गर्भनिरोध में अधिक विकल्प मिलेंगे।
रिसुग के संभावित लाभ
रिसुग के कई संभावित लाभ हैं। सबसे पहले, यह पुरुषों को गर्भनिरोध में अधिक विकल्प प्रदान करता है। वर्तमान में, पुरुषों के लिए केवल दो मुख्य गर्भनिरोधक विकल्प हैं: कंडोम और पुरुष नसबंदी। रिसुग एक स्थायी गर्भनिरोधक विकल्प है, जो पुरुषों को लंबे समय तक गर्भधारण से बचने की अनुमति देता है।
दूसरा, रिसुग सुरक्षित और प्रभावी है। अध्ययनों में, टीके ने 99% तक गर्भधारण को रोक दिया है। टीके में कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं देखे गए हैं।
तीसरा, रिसुग लागत प्रभावी हो सकता है। आईसीएमआर का अनुमान है कि रिसुग की लागत पुरुष नसबंदी की तुलना में कम होगी।
रिसुग के संभावित नुकसान
रिसुग के कुछ संभावित नुकसान भी हैं। सबसे पहले, यह एक स्थायी गर्भनिरोधक है। पुरुषों को यदि रिसुग के बाद गर्भधारण करना चाहते हैं, तो उन्हें सर्जरी की आवश्यकता होगी।
दूसरा, रिसुग का प्रभाव कुछ वर्षों तक रहता है। यदि पुरुष रिसुग के बाद गर्भधारण करना चाहते हैं, तो उन्हें टीके की एक नई खुराक प्राप्त करने की आवश्यकता होगी।
कुल मिलाकर, रिसुग एक महत्वपूर्ण प्रगति है जो पुरुषों को गर्भनिरोध में अधिक विकल्प प्रदान करता है। टीके के सुरक्षित और प्रभावी होने के बाद, यह दुनिया भर में पुरुषों के लिए एक लोकप्रिय गर्भनिरोधक विकल्प बन सकता है।

Leave a Comment