पर्यटन मंत्रालय का विशेष अभियान 3.0: स्वच्छता के नाम पर जन भागीदारी

पर्यटन मंत्रालय का विशेष अभियान 3.0: स्वच्छता के नाम पर जन भागीदारी

पर्यटन मंत्रालय और इसके अधीनस्थ कार्यालय/संगठन जैसे कि भारत पर्यटन के क्षेत्रीय घरेलू कार्यालयों, नेशनल काउंसिल फार होटल मैनेजमेंट एण्ड कैटरिंग टैक्नालॉजी (एनसीएचएमसीटी), केन्द्रीय होटल मैनेजमेंट संस्थान (सीआईएचएम), भारतीय पाककला संस्थान (आईसीआई), युवा टूरिज्म क्लब (वाईटीसी) आदि भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे विशेष अभियान 3.0 में सक्रियता के साथ भागीदारी कर रहे हैं। विशेष अभियान 3.0 के तहत अब तक 3,145 दस्तावेजी फाइलों और 1,542 ई-फाइलों की समीक्षा के लिये पहचान की गई, जिसमें से 2,810 दस्तावेज वाली फाइलों को हटा दिया गया जबकि 600 इलेक्ट्रानिक फाइलों को बंद कर दिया गया है। लक्ष्य किये गये 356 सफाई अभियानों में से 269 ‘स्वच्छता अभियान’ पूरे कर लिये गये हैं। अभियान के तहत चलाई गई गतिविधियों को सोशल मीडिया पर दिखाया गया। इसके बारे में जागरूकता बढ़ाने को लेकर विभिन्न सोशल मीडिया हैंडल पर 170 से अधिक पोस्ट अपलोड की गईं।

आईएचएम के छात्रों और पर्यटन क्षेत्र के हितधारकों ने न केवल कार्यालयों और संस्थान परिसरों के आसपास स्वच्छता अभियान में भाग लिया बल्कि उन क्षेत्रों में भी अभियान चलाया जहां आमतौर पर पर्यटक जाते रहते हैं। इससे अभियान में जन भागीदारी की अवधारणा को और आगे बढ़ाया गया।

विशेष स्वच्छता अभियान के तहत बस अड्डों, संग्रहालयों, रेलवे और मेट्रो स्टेशनों, समुद्र तटों, स्कूल और कालेज परिसरों आदि को शामिल किया गया। सार्वजनिक स्थलों की साफ सफाई और कायाकल्प के लिये पौधारोपण अभियान भी चलाया गया।

रिकार्ड रूम प्रबंधन पर भी पूरा ध्यान दिया गया, इसमें पुरानी फाइलों को हटाने के साथ ही बेकार तथा पुराने सामान का निपटान कर कामकाज के लिये अधिक स्थान उपलब्ध हुआ है। अभियान के परिणामस्वरूप जो खाली स्थान उपलब्ध हुआ है उसका इस्तेमाल योग कक्षाओं और दूसरी रचनात्मक गतिविधियों के लिये किया गया। मंत्रालय द्वारा तय लक्ष्यों को हासिल करने के लिये अभियान पूरे जोरों से चलाया जा रहा है।

 

Leave a Comment