नई दिल्ली में आयोजित 21वें हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2023 में प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

नई दिल्ली में आयोजित 21वें हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2023 में प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

नई दिल्ली, 4 नवंबर, 2023
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 नवंबर, 2023 को नई दिल्ली में आयोजित 21वें हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में भाग लिया। अपने संबोधन में, उन्होंने भारत के विकास में हुई प्रगति पर प्रकाश डाला और देश की भविष्य की योजनाओं के बारे में बात की।
हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट का महत्व
प्रधानमंत्री ने कहा कि हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट एक महत्वपूर्ण मंच है जो भारत के विकास के लिए विचारों और समाधानों को साझा करने के लिए एक साथ लाता है। उन्होंने कहा कि इस साल की थीम, “बियॉन्ड बैरियर्स”, भारत के विकास में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए एक प्रतिबद्धता को दर्शाती है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक युवा देश है और इसकी आबादी में अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि भारत इन संभावनाओं को भुनाने के लिए काम कर रहा है।
भारत के विकास में हुई प्रगति
प्रधानमंत्री ने भारत के विकास में हुई प्रगति पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले आठ वर्षों में कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है, जिसमें अर्थव्यवस्था, बुनियादी ढांचा, शिक्षा और स्वास्थ्य शामिल हैं।
  • अर्थव्यवस्था: भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।
  • बुनियादी ढांचा: भारत में सड़कों, रेलवे, और हवाई अड्डों का नेटवर्क काफी हद तक विस्तारित हुआ है।
  • शिक्षा: भारत में स्कूलों और कॉलेजों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है।
  • स्वास्थ्य: भारत में स्वास्थ्य सेवाओं में काफी सुधार हुआ है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अब एक मजबूत और आत्मनिर्भर देश है जो वैश्विक मंच पर एक प्रमुख भूमिका निभा रहा है।
भारत की भविष्य की योजनाएं
प्रधानमंत्री ने देश की भविष्य की योजनाओं के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि भारत 2047 में अपनी 100वीं वर्षगांठ तक एक विकसित देश बनने का लक्ष्य लेकर चल रहा है। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, भारत को कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति करने की आवश्यकता है, जिसमें बुनियादी ढांचा, शिक्षा, स्वास्थ्य और अनुसंधान शामिल हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत इन क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति करने के लिए काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत एक सकारात्मक और समावेशी विकास की राह पर है।
प्रधानमंत्री के संबोधन की सराहना
प्रधानमंत्री के संबोधन को समिट में उपस्थित सभी लोगों ने सराहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के संबोधन ने भारत के विकास की कहानी को बहुत ही प्रभावी ढंग से बताया है।
प्रधानमंत्री के संबोधन के मुख्य बिंदु
  • हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट एक महत्वपूर्ण मंच है जो भारत के विकास के लिए विचारों और समाधानों को साझा करने के लिए एक साथ लाता है।
  • भारत ने पिछले आठ वर्षों में कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है।
  • भारत अब एक मजबूत और आत्मनिर्भर देश है जो वैश्विक मंच पर एक प्रमुख भूमिका निभा रहा है।
  • भारत 2047 में अपनी 100वीं वर्षगांठ तक एक विकसित देश बनने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।
  • भारत एक युवा देश है और इसकी आबादी में अपार संभावनाएं हैं।
विस्तृत विवरण
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत में हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा मंच है जहां विभिन्न क्षेत्रों के नेता एक साथ आते हैं और भारत के विकास के लिए विचारों और समाधानों को साझा करते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल की थीम, “बियॉन्ड बैरियर्स”, भारत के विकास में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए एक प्रतिबद्धता को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि भारत एक युवा देश है और इसकी आबादी में अपार संभावनाएं हैं।
प्रधानमंत्री ने भारत के विकास में हुई प्रगति पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले आठ वर्षों में कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है, जिसमें अर्थव्यवस्था, बुनियादी ढांचा, शिक्षा और स्वास्थ्य शामिल हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। उन्होंने कहा कि भारत में सड़कों, रेलवे, और हवाई अड्डों का नेटवर्क काफी हद तक विस्तारित हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत में स्कूलों और कॉलेजों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि भारत में स्वास्थ्य सेवाओं में काफी सुधार हुआ है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अब एक मजबूत और आत्मनिर्भर देश है जो वैश्विक मंच पर एक प्रमुख भूमिका निभा रहा है।
प्रधानमंत्री ने देश की भविष्य की योजनाओं के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि भारत 2047 में अपनी 100वीं वर्षगांठ तक एक विकसित देश बनने का लक्ष्य लेकर चल रहा है। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, भारत को कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति करने की आवश्यकता है, जिसमें बुनियादी ढांचा, शिक्षा, स्वास्थ्य और अनुसंधान शामिल हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत इन क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति करने के लिए काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत एक सकारात्मक और समावेशी विकास की राह पर है।
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के अंत में सभी को धन्यवाद दिया और कहा कि वह भारत के विकास के लिए सभी का समर्थन चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने भारत के विकास में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि सरकार ने भारत में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार करने, और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने भारत में एक मजबूत और स्वतंत्र रक्षा बल बनाने के लिए भी काम किया है। उन्होंने कहा कि भारत अपने पड़ोसियों के साथ शांति और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और वह भारत में लोकतंत्र और स्वतंत्रता को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक महान देश है और वह भारत के विकास के लिए सभी का समर्थन चाहते हैं।

प्रधानमंत्री के संबोधन को समिट में उपस्थित सभी लोगों ने सराहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के संबोधन ने भारत के विकास की कहानी को बहुत ही प्रभावी ढंग से बताया है।

Leave a Comment